M G POLYTECHNIC HATHRAS

About Us

संस्था का इतिहास

संस्था का उद्घाटन तत्कालीन मुख्यमंत्री डॉ० सम्पूर्णानन्द जी के कर कमलों से 24 सितम्बर 1955 को सम्पन्न हुआ । सर्वप्रथम दो वर्षीय पाठ्यक्रम सर्वेयर और कम्प्यूटर जिसकी प्रवेश क्षमता 60 व 40 थी तथा एक नवीन पाठ्यक्रम ड्राफ्टमैन सिविल भी प्रारम्भ किया गया था।

था। इसके उपरान्त भारत सरकार द्वारा नियुक्त एक बिजटिंग कमेटी ने सितम्बर 1958 में संस्था का निरीक्षण किया तथा अपनी रिपोर्ट में इन पाठ्यक्रम को बन्द करके तीन वर्षीय डिप्लोमा सिविल, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल चलाये जाने की संस्तुति की । सन 1959-60 में प्रशासकीस कार्य पावर (ए) विभाग से इन्ड्रटीज(डी) विभाग को स्थानान्तरित किया गया । सितम्बर 30, 1959 को प्रबन्ध समिति का पुनः गठन किया गया ।

प्राविधिक शिक्षा निदेशालय की स्थापना होने के उपरान्त निदेशक, प्राविधिक शिक्षा उ0प्र0, कानपुर प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष हो गये तथा संस्था का नाम मुरलीधर गजानन्द पॉलिटेक्निक हाथरस हो गया । वर्ष 1975-76 में इलेक्ट्रॉनिक्स व रेफीजरेशन एण्ड एयर कण्डीशनिंग में तीन वर्षीय डिप्लोमा कोर्स पाठ्यक्रम संचालित किये गये । वर्तमान में संस्था में निम्न आठ पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है ।

Student Says About Us

Separated they live in. A small river named Duden flows by their place and supplies it with the necessary regelialia. It is a paradisematic country